घर पोस्टर लगाने पहुंची स्वास्थ्य विभाग की टीम, DSP ने गाली गलौज के साथ गोली मारने की दी धमकी

9/5/2020 4:13:34 PM

हिसार (विनोद): हिसार के सेक्टर 16-17 में रहने वाले डीएसपी के आवास पर कोविड पोस्टर लगाने को लेकर विवाद हो गया। इस मामले का एक वीडियो भी वायरल हो सामने आया है। जिसमें डीएसपी गोली मारने की धमकी देने के साथ ही अपशब्द बोल रहे हैं। 

स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी राज कुमार ने आरोप लगाया कि पोस्टर लगाने के दौरान डीएसपी की पत्नी ने अभद्र व्यवहार किया और कोविड क्वारंटाइन का पोस्टर लगाने से भी मना कर दिया। कर्मचारी ने आरोप लगाया कि बाद में डीएसपी ने फोन भर अपशब्दों क प्रयोग किया था। इस मामले में स्वास्थ्य टीम ने अपने उच्चअधिकारयों को जानकारी दी। जिसके बाद यह मामला पुलिस अधीक्षक के पास पहुंचा। इस मामलें में पुलिस विभाग के सुरक्षा प्रभारी को मामले में संज्ञान लेने के लिए कहा तब जाकर घर पर पोस्टर लगा। 

PunjabKesari, haryana

इस मामले को लेकर स्वास्थ विभाग के कर्मचारियों का शिष्टमंडल पुलिस अधीक्षक गंगा राम पूनिया से भी मिला। इस पर पुलिस अधीक्षक गंगा राम पूनिया ने मामले की जांच सिविल लाइन थाना प्रभारी को दी है और रेलवे जीआरपी एसपी को लिखित तौर से लैटर भेजा है तथा वायरल वीडियो भी भेजा। स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों में इस घटना को लेकर काफी रोष है। कर्मचारी नेता ने कहा कि कर्मचारियों की बैठक बुलाई जाएगी, जिसमें दुर्व्यवहार के मामले पर विचार विर्मश किया जाएगा। 

बता दें कि जीआरपी विभाग के डीएसपी कोरोना संक्रमित हो गए थे और वे अस्पताल में भर्ती हुए थे। इसलिए स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी क्वारंटाइन का पोस्टर लगाने हिसार उनके घर गए थे। इस बारे स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी राजकुमार ने बताया कि विभाग की टीम कोविड का पोस्टर लगाने के लिए सेक्टर 16-17 में गए। इसी दौरान डीएसपी की पत्नी ने कोविड का पोस्ट नहीं लगाने दिया। 

PunjabKesari, haryana

इसके बाद में डीएसपी ने फोन पर गालियां दी और गलत व्यवहार किया गया। उन्होंने बताया कि प्रदीप यादव खुद कोरोना पॉजिटिव थे और सामान्य अस्पताल में दाखिल थे। उन्होंने कहा कि दाखिल होने के बाद में वह बिना बताए निजी अस्पताल में दाखिल हो गए,  इसलिए क्वारंटाइन का पोस्टर लगाने के लिए गए थे। 

वहीं एमपीएच एसोसिएशन के प्रधान अमित गोयत ने बताया कि हिसार के अधीक्षक ने अंबाला जीआरपी के पुलिस अधीक्षक को जानकारी दे दी है। उन्होंने कहा कि अधिकारी उन्हें धमकी दे रहे हैं, यह गलत है। इस मामले को लेकर कर्मचारियों की बैठक करेंगे। इस मामले में काम बंद करने का निर्णय ले सकते है। उन्होंने कहा कि अधिकारी ऐसे अगर गलत तरीके से धमकाने का काम करेंगे तो कर्मचारी किस प्रकार से काम अपना जिम्मेवारी के साथ करेंगे।


vinod kumar

Related News