हरियाणा के दो डीजीपी हुए रिटायर्ड, 2 IPS की हो सकती है पदोन्नति

6/30/2020 7:10:38 PM

चंडीगढ़ (धरणी): हरियाणा पुलिस संगठन में दो पुलिस महानिदेशक (डीजीपी) रैंक के अधिकारी डॉ. केपी सिंह और केके मिश्रा आज सेवानिवृत हो गए। इन दोनों आईपीएस अधिकारियों के रिटायर्ड होने के बाद अब 2 आईपीएस की पदोन्नति हो सकती है। इसके साथ आज राज्य में कई बड़े स्तर पर आईपीएस अधिकारियों के तबादले भी हो सकते हैं। 

ज्ञात रहे कि केपी सिंह अप्रैल 2016 से लेकर अप्रैल 2017 तक प्रदेश पुलिस प्रमुख भी रह चुके हैं। इसके बाद भी फरवरी 2019 में बीएस संधू की रिटायरमेंट के बाद और वर्तमान डीजीपी मनोज यादव की तैनाती से पहले केपी सिंह कुछ दिनों के लिए कार्यवाहक डीजीपी भी रहे।

1989 बैच के आईपीएस मोहम्मद अकील जिन्हें बीते माह शराब घोटाले की जांच के लिए बनी एसईटी के सदस्य बनाया गया है एवं वर्तमान में पुलिस मुख्यालय में एडीजीपी हेडक्वार्टर्स के साथ साथ ही गुरुग्राम के पुलिस कमिश्नर भी हैं, उनका और उनके साथ के बैच के ही दूसरे आईपीएस अधिकारी डॉ. आरसी मिश्रा दोनों की बीते वर्ष 2019 से डीजीपी रैंक में प्रमोशन लंबित है। 

वर्तमान में हरियाणा में 1989 बैच के दो ही आईपीएस अधिकारी है। इस वर्ष मार्च 2020 में केंद्रीय सरकार की कैबिनेट नियुक्ति संबधी कमेटी द्वारा अकील को केंद्र में अतिरिक्त महानिदेशक और उसके समकक्ष पदों पर तैनाती के लिए इम्पैनल किया है। अकील की सेवानिवृत्ति दिसंबर, 2025 में है।

आज से पौने दो वर्ष पूर्व पहले सितम्बर 2018 में हरियाणा सरकार द्वारा 1988 बैच के तीन आईपीएस अधिकारियों-मनोज यादव , प्रशांत कुमार अग्रवाल और सुधीर चौधरी को डीजीपी रैंक में पदोन्नत किया गया था, हालांकि सुधीर चौधरी 30 सितम्बर 2018 को ही आईपीएस से रिटायर हो गए थे।

इस प्रकार 1989 बैच को आईपीएस अकील और मिश्रा का भी सितम्बर 2019 में डीजीपी के तौर पर प्रमोशन हो जानी चाहिए थी। 1990 बैच के दो आईपीएस शत्रुजीत सिंह कपूर और देश राज सिंह की  डीजीपी के तौर पर प्रमोशन भी इस वर्ष 2020 में होनी बनती है।


Edited By

vinod kumar

Related News