गृहमंत्री के अचानक छापे की सोशल मीडिया पर रही चर्चा, लोगों ने कहा 'गब्बर इज बैक'

11/17/2019 1:01:07 PM

पानीपत (खर्ब): अपनी दबंग छवि व अधिकारियों में खौफ के लिए चॢचत गृह, स्वास्थ्य एवं शहरी स्थानीय निकाय मंत्री अनिल विज के अचानक पानीपत में छापे से मंत्री के संबंधित विभागों के अलावा जिले के अधिकारियों व कर्मचारियों में हड़कम्प मचा रहा। अनिल विज पिछली सरकार में जिला कष्ट निवारण समिति के चेयरमैन थे। यदि इस बार भी पानीपत मंत्री विज के बांटे आ गया तो यह पुलिस के लिए भी भारी रहेगा। पिछली सरकार में समिति की बैठकों में विज ने कई अधिकारियों को सस्पैंड कर दिया था। वहीं शनिवार को अचानक मारे छापे में भी एक महिला पुलिस अधिकारी को सस्पैंड कर दिया। 

मंत्री ने पूरी तरह थाने की जांच की। उन्होंने थाने के सभी पुलिस कर्मचारियों की उपस्थिति को व्यक्तिगत चैक किया। गृह मंत्री शनिवार को चंडीगढ़ से दिल्ली जा रहे थे। मंत्री विज ने थाने की सभी बैरकों, कमरों, सभी जरूरी रजिस्टरों का तथा साफ -सफाई का भी निरीक्षण किया। उन्होंने एफ.आई.आर. की संख्या भी जांची, जो कि दुरुस्त पाई गई। थाने में आई पुरानी शिकायतों पर एस.एच.ओ. से इस बारे में जवाब मांगा, तो एस.एच.ओ. ने कहा कि इन पर कार्रवाई चल रही है।

इतना ही नहीं कुछ शिकायत दर्ज करवाने वालों को फोन भी किए ताकि सच्चाई का पता लगाया जा सके। थाने में सफाई की कमी मिलने पर मंत्री अनिल विज ने थानों में सफाई व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए भी कहा। इस मौके पर पानीपत ग्रामीण से विधायक महिपाल ढांडा, पुलिस अधीक्षक सुमित कुमार आदि मौजूद रहे। जैसे ही शहर के लोगों को मंत्री विज के छापे की भनक लगी तो छापे की वीडियो मांगने लगे। जब सोशल मीडिया व टी.वी. पर मंत्री के छापे के समाचार चलने लगे तो मंत्री के समर्थकों ने गब्बर इज बैक, एक्शन में आए मंत्री आदि लिखकर वायरल करने लगे। 


Isha

Related News