पानीपत के सिंघम पुलिसकर्मी के मामले में गृह मंत्री ने लिया संज्ञान, DGP से तलब की रिपोर्ट

punjabkesari.in Wednesday, Sep 28, 2022 - 07:20 PM (IST)

पानीपत/चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): गब्बर कहे जाने वाले हरियाणा के गृह मंत्री ने पानीपत के चर्चित सिंघम मामले में सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो के आधार पर डीजीपी हरियाणा से रिपोर्ट तलब की है। पानीपत के हेड कांस्टेबल आशीष की वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल होने के बाद मंत्री विज ने संज्ञान लिया है। गौरतलब है कि पानीपत के हेड कांस्टेबल आशीष द्वारा पिछले दिनों पुलिस पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाकर इस्तीफा देने की वीडियो वायरल हुई थी।

 

शनिवार को गृह मंत्री के जनता दरबार में पहुंच सकते हैं सिंघम आशीष

 खास बात यह है कि आशीष के नाम से एक मैसेज भी 2 दिनों से वायरल हो रहा है, जिसमें दावा किया जा रहा है कि वह शनिवार गृह मंत्री अनिल विज के खुले दरबार में पेश होंगे व अपनी फरियाद रखेंगें। आशीष के इस वायरल मैसेज में कहा जा रहा है कि आशीष गृह मंत्री के सामने सभी नामों का खुलासा करेंगे। प्राप्त जानकारियों के अनुसार पानीपत के  इस पुलिस कर्मचारी के मुद्दे पर हरियाणा की गृह व स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज के द्वारा  डीजीपी से रिपोर्ट मांगे जाने पर विभाग में खलबली मच गई है।

 

आशीष ने पुलिस विभाग में भ्रष्टाचार होने के लगाए थे आरोप

 

जानकारी के अनुसार आशीष नामक हेड कांस्टेबल पानीपत ट्रैफिक पुलिस में कार्यरत था। आशीष अपनी ड्यूटी पर लोगों को पूर्ण चुस्त-दुरुस्त नजर आता तथा ट्रैफिक व्यवस्था सुधारने में जुटा रहता। आशीष की कार्यप्रणाली को देखते हुए पानीपत के लोगों में इसकी चर्चा रहने लगी तथा इसे कई कार्यक्रमों में बुलाया जाने लगा, जहां उन्हें सम्मानित भी किया जाता था। इसलिए आशीष को सोशल मीडिया ने सिंघम का नाम दे दिया। आशीष को ट्रैफिक पुलिस से पिछले दिनों निलंबित कर दिया गया था। आशीष द्वारा अधिकारियों को इस्तीफा भ्रष्टाचार के आरोप लगाते हुए दिया गया है। फिलहाल उनका इस्तीफा स्वीकार नहीं हुआ है।

 

विज के दरबार में सबूत पेश करने का किया दावा

 

आशीष का कहना है कि हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज हरियाणा के अंदर नशा तस्करों के खिलाफ जबरदस्त मुहिम चलाए हुए हैं। गृह मंत्री अनिल विज ने नशा खत्म करने के लिए हरियाणा के अंदर हरियाणा नारकोटिक्स ब्यूरो का गठन भी किया। भ्रष्टाचार के मामलों में भी वह पूरे सख्त है। आशीष मानते हैं कि वह अपना सारा भ्रष्टाचार का मामला, सभी जानकारियां सबूतों के साथ गृह मंत्री अनिल विज को शनिवार को अम्बाला में जाकर देंगे। गृहमंत्री किसी भी ईमानदार अधिकारी से अगर भ्रष्टाचार व नशा तस्करों के खिलाफ जांच करवाएंगे, तो उन्हें पूरे घटनाक्रम की सच्चाई अपने आप सामने आ जाएगी। आशीष का कहना है कि वह भ्रस्टाचार के खिलाफ खुली लड़ाई लड़ रहा है। इस वजह से उन्हें बार बार निलंबित किया जाना कहां का न्याय है। इसलिए उसने इस्तीफा दिया है। आला अधिकारियों, गृह मंत्री,मुख्यमंत्री को उनकी बात सुन सबूत ले कड़े एक्शन करने चाहिए।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)

 

 

सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Gourav Chouhan

Related News

Recommended News

static