स्वामी ज्ञानानंद जी के प्रवचन सुनने के लिए अमेरिका में भी भारी समूह एकत्रित होते हैं- रविंद्र चोपड़ा

punjabkesari.in Monday, May 16, 2022 - 08:31 PM (IST)

चंडीगढ़(धरणी): अमेरिका के उद्योगपति एनआरआई रविंदर चोपड़ा स्वामी ज्ञानानंद से मिले तथा उनसे स्नेह और आशीर्वाद लिया। स्वामी ज्ञानानंद जल्दी अमेरिका भी जा रहे हैं तथा अमेरिका प्रवास के दौरान रविंदर चोपड़ा के निवास पर रुकेंगे।

रविंद्र चोपड़ा ने कहा कि गीता मनीषी राष्ट्र की सेवा में लगे हैं। सभा ने उनके जन्मदिन पर दीर्घायु के लिए यज्ञ आयोजित किया और परम पिता परमात्मा से प्रार्थना की कि गीता मनीषी राष्ट्र सेवा करते रहें। उन्होंने कहा कि स्वामी ज्ञानानंद का जीवन सनातन धर्म के प्रति समर्पित है।उन्होंने गीता पर काफी शोध, मनन, मंथन किया है। गीता की व्याख्या समेत गीता पर कई पुस्तकें लिख चुके हैं। जबकि आठ साल पहले उन्हें महामंडलेश्वर की उपाधि मिल चुकी है।

रविंद्र चोपड़ा ने बताया कि स्वामी ज्ञानानंद जीके अनूप भाई समूचे विश्व भर में है। अमेरिका के लोग भी उनके अमेरिका प्रवास का इंतजार करते रहते हैं। उन्होंने कहा कि स्वामी ज्ञानानंद के प्रवचन सुनने के लिए अमेरिका में भी भारी समूह एकत्रित होते हैं। उन्होंने कहा कि गीता जो हमें करमवा मुक्ति का मार्ग दिखाती है जब हम लोग स्वामी जी के मुख से गीता पाठ सुनते हैं तो आनंदित हो उठते हैं। इनसे अद्गभूत प्रेरणा मिलती है।

रविंद्र चोपड़ा ने बताया कि गीता हिदू धर्म का एक पवित्र ग्रंथ है। गीता के उपदेश में समस्त जीवन का सार छिपा हुआ है। हर वर्ष अगहन के महीने की शुक्ल पक्ष की एकादशी तिथि पर गीता जयंती मनाई जाती है। इस वर्ष भी श्री कृष्ण कृपा परिवार के सभी सदस्यों द्वारा गीता माता की शोभायात्रा निकाली गई। गीता मनीषी स्वामी श्री ज्ञानानंद महाराज के सफल प्रयासों के फलस्वरूप यही एक ग्रंथ है जिसकी जयंती मनाई जाती है। पूरे विश्व में और किसी ग्रंथ की जयंती नहीं मनाई जाती है।

उन्होंने बताया कि गीता मनीषी स्वामी ज्ञानानंद महाराज का जन्मदिन मनाया गया। इस अवसर पर संस्थानों ने हवन और भंडारा किया। इसके बाद गायों को हरा चारा भी खिलाया गया। 51 वेदपाठी ब्रह्माचारियों ने गीता मनीषी की दीर्घायु के लिए हवन किया । उनका जीवन गाय और गीता के प्रति समर्पित है। सभा स्वामी ज्ञानानंद महाराज के दीर्घायु होने की कामना करती है। वहीं श्रीकृष्ण कृपा सेवा समिति और जीओ गीता की ओर से गीता मनीषी के जन्म दिन पर गीता ज्ञान संस्थानम में हवन किया गया और गुरु महिमा का संकीर्तन किया गया।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Vivek Rai

Related News

Recommended News

static