खाकी हुई आलसी: लापता लड़की को ढूंढऩे के लिए परिजनों को कहा- अपनी गाड़ी लाओ तो चलेंगे

punjabkesari.in Wednesday, Jun 30, 2021 - 12:06 AM (IST)

पानीपत (सचिन शर्मा): सेवा, सुरक्षा, सहयोग का नारा देने वाली हरियाणा पुलिस पर असहयोग के आरोप लगे हैं। आरोपों के मुताबिक, पुलिसकर्मी अपनी ड्यूटी से इतने शिथिल हो गए हैं कि वे एक लापता नाबालिग लड़की को नहीं ढूंढ़ पा रहे। इसके अलावा लड़की की तलाश के लिए पीड़ित परिवार से निजी गाड़ी की व्यवस्था करने को कहा जा रहा है। यह आरोप पानीपत में रहने वाली प्रवासी महिला मजदूर ने लगाए हैं।

जानकारी के मुताबिक, उत्तर प्रदेश की रहने वाली प्रवासी और विधवा महिला मजदूर की बेटी पिछले कई दिनों से लापता है। इस मामले में पीड़िता ने पुलिस को शिकायत दर्ज करवाई थी। इसके बाद पता चला कि उसकी बेटी यूपी के जिला बिजनौर में है, जिसे लाने के लिए महिला थाने का चक्कर काट रही है।

महिला ने आरोप लगाया कि सेक्टर-29 थाना पुलिस के अधिकारी बोल रहे हैं कि बेटी बरामद करानी है तो गाड़ी ले आओ तभी उसमें हम बैठ कर बरामद करने यूपी चलेंगे। पुलिस की इस बेरुखी के खिलाफ वह दो बार जिला पुलिस अधीक्षक की कोठी पर शनिवार को जा कर गुहार लगा चुकी है, लेकिन एसपी की कोठी पर मौजूद स्टाफ ने उसे एसपी से नहीं मिलने दिया, लेकिन एसपी ऑफिस स्टाफ ने पुलिस थाना सेक्टर-29 के अधिकारियों को फोन करके पुलिस की गाड़ी ले जाकर अपहृता को यूपी से बरामद करने के निर्देश दिए।

सेक्टर-29 थाना पुलिस द्वारा इन निर्देशों को न मानने पर रविवार 27 जून को सुबह वह दोबारा एसपी से मिलने कोठी पर पहुंची तो मौजूद स्टॉफ ने दोबारा सेक्टर-29 पुलिस थाने में फोन कर कार्रवाई के निर्देश देते हुए पीड़िता को पुलिस स्टेशन जाने को कहा। पीड़िता ने आरोप लगाया कि जब वह पुलिस स्टेशन पहुंची तो गुस्से में लाल हुए इंस्पेक्टर व एक अन्य पुलिस कर्मी ने उसे डांट लगाई कि उसने एसपी दफ्तर जा कर उनकी शिकायत क्यों की? हमारे पास अभी कोई गाड़ी नहीं है, जब हमारे पास गाड़ी होगी हम तभी लड़की बरामद करने यूपी जाएंगे। तेरी लड़की का यूपी में होने का पता चल गया है, अपनी प्राईवेट गाड़ी ले आ वरना लेट हुई तो तेरी बेटी शायद न भी मिले।

वहीं इस मामले में डीएसपी सतीश वत्स ने कहा कि पुलिस विभाग के पुलिस मामले की जांच करने का अलग से बजट है। जांच अधिकारी के जांच के दौरान जो पैसे लगते हैं, वो उन्हें नगद पैसे देते हैं। अगर फिर भी कोई जांच अधिकारी ऐसी नालायकी करता है, तो हम उसकी जांच करेंगे। उन्होंने कहा कि अगर कोई ऐसी शिकायत देता है तो उस पर भी उचित कार्रवाई की जाएगी।

 

(हरियाणा की खबरें टेलीग्राम पर भी, बस यहां क्लिक करें या फिर टेलीग्राम पर Punjab Kesari Haryana सर्च करें।)


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Shivam

Related News

Recommended News

static