CM ऑफिस के दो अधिकारियों को गृह व निकाय विभाग में लगाए जाने से खिन्न हुए विज

12/2/2019 10:46:18 PM

चंडीगढ़ (धरणी): हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने गृह व निकाय विभाग में हाल ही में उच्च स्तरीय अधिकारियों की नियुक्तियों को लेकर कड़ी प्रतिक्रिया दी है। विज का कहना है कि मुख्यमंत्री के कार्यालय में जिम्मेदारियों में व्यस्त अधिकारी पब्लिक डीलिंग के उनके गृह व निकाय विभागों में पूरा समय नहीं दे पाएंगे। अधिकारियों के वर्क लोड को देखते हुए इन विभागों में जनहित में इंडिपेंडेंट चार्ज होना चाहिए।

गृह और स्थानीय निकाय विभाग में अधिकारियों की नियुक्ति को लेकर गृह मंत्री अनिल विज खिन्न नजर आए। उन्होंने कहा कि ये दोनों विभाग लोगो से जुड़े बड़े विभाग हैं इसलिए उन्हें इंडिपेंडेंट ऑफिसर चाहिए। ध्यान रहे हाल ही में तबादलों में मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव को गृह और उप प्रधान सचिव को निकाय विभाग का एसीएस नियुक्त किया गया है। निकाय मंत्री बनने के बाद विभाग की प्रेजिनटेशन देने के लिए निकाय विभाग के तत्कालिम प्रधान सचिव आनंद मोहन शरण आए।

अगले दिन ही उनका तबादला होने पर एसीएस सिद्धि नाथ राय को लगाया गया। दो दिनों के बाद उनका तबादला कर मुख्यमंत्री के डिप्टी प्रिंसिपल सेक्रेटरी वी उमाशंकर को निकाय विभाग का एसीएस लगा दिया गया।

विज का कहना है कि पांच-छ दिनों में तीन अधिकारी फेरबदल होंगे तो काम कैसे चलेगा। किसी भी विभाग की बारीकियों को समझने के लिए अधिकारियों को समय लगता है।अतीत में भी अनिल विज अपनी बात बेबाकी से कहने के लिए जाने जातें हैं।

गौरतलब है की हाल ही में अफसरशाही के हुए तबादलों में स्थानीय निकाय विभाग आनंद मोहन शरण से लेकर सिद्दी नाथ राय को दिया गया था। लेकिन दो दिन बाद ही सिद्धिनाथ से विभग लेकर मुख्यमंत्री के दीप्ती प्रिंसिपल सेके्रटरी वी उमा शंकर को दे दिया गया है। इसी प्रकार गृह सचिव नवराज संधू के सेवानिवृत्त होने पर यह जिम्मेदारी मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव आर के खुल्लर को दी गई। 


Shivam

Related News