बस कंडक्टर की सूझ-बूझ से 3 नाबालिग बहनों को किया उनके माता-पिता के हवाले

punjabkesari.in Sunday, Sep 25, 2022 - 10:51 AM (IST)

पिहोवा : बस कंडक्टर की सूझ-बूझ व पुलिस की टीम ने सेवा, सुरक्षा और सहयोग को चरितार्थ करते हुए पिहोवा से पीपली बस से पहुंची 3 सगी नाबालिग बहनों को सकुशल  परिजनों का पता लगाकर उन्हें उनके हवाले किया।  विस्तृत जानकारी देते हुए पुलिस प्रवक्ता नरेश कुमार ने बताया कि गत सायं पिहोवा बस स्टैंड से एक बस पीपली के लिए चली थी। जिसमें 3 नाबालिग बहनें  (7,10,13 वर्ष) सवार हो गईं।  जब बस पीपली बस स्टैंड पर पहुंची तो सभी सवारियां पीपली चौंक पर उतर गई लेकिन 3 लड़कियां बस में बैठी रही। उसी समय बस कंडक्टर की नजर उन पर पड़ी। उसने उनसे उनका नाम पता पूछा तो वे तीनों लड़कियां कोई संतोषजनक जवाब नहीं दे पाईं। तभी बस कंडक्टर ने सूझबूझ दिखाते हुए इसकी सूचना सदर पुलिस स्टेशन थानेसर को दी। 

सूचना मिलते ही थाना सदर  उप निरीक्षक ईलम सिंह व हवलदार विनोद कुमार मौके पर पहुंचे और उन तीनों लड़कियों से उनका नामपता पूछा। बड़ी लड़की ने माता-पिता का मोबाइल नम्बर की तलाश कर उन्हें इसकी सूचना दी। सूचना मिलते ही लड़कियों के परिजन थाना सदर थानेसर पहुंचे जहां पर पुलिस टीम ने लड़कियों को उनके सुपुर्द कर दिया। 

परिजनों ने बच्चियों के सकुशल घर पहुंचने पर पुलिस कर्मचारियों की प्रशंसा की। सब इंस्पैक्टर इलम सिंह ने बताया कि उक्त तीनों लड़कियों की एक बहन दिल्ली रहती है। घर पर कोई न होने के चलते वे तीनों उसे मिलने घर से दिल्ली जाने के लिए निकल पड़ी।


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static