डीजीपी जेल को सभी जेलों में रेगुलर विजिट करने के आदेश: रणजीत चौटाला

punjabkesari.in Wednesday, May 18, 2022 - 02:34 PM (IST)

चंडीगढ़(चंद्रशेखर धरणी): हरियाणा के जेल मंत्री रणजीत चौटाला द्वारा डीजीपी जेल को सभी जेलों में रेगुलर विजिट करने के आदेश बारे जानकारी देते हुए बताया कि पहले जेल का सुप्रिडेंट वहां का डीसी, एसपी, सेशन जज यानि सर्वे सर्वा होता था। लेकिन अब डीजीपी के रेगुलर विजिट के बाद अधिकारियों में डर का माहौल रहेगा। इससे कई सकारात्मक सुधार सामने आएंगे। साथ ही उन्होंने बताया कि बड़े-बड़े इस्टीट्यूटो को भी जेल में जाकर हमें रिपोर्ट देने के आदेश जारी किये है। उन्होंने कहा कि जेल में बंद कैदियों की मनोवृति बदलने को लेकर हमने अच्छे संस्कारों वाले संतों -सामाजिक संस्थाओं के प्रोग्राम करवाने भजन पार्टियों द्वारा कार्यक्रम के आयोजन से कैदियों के डिप्रेशन को कम करने की भी कोशिश कर रहे हैं। जेल मंत्री रणजीत चौटाला ने बताया कि हमने इसके साथ-साथ ठीक व्यवहार वाली महिलाओं को जेल के बाहर सिक्योरिटी के साथ बाहर घुमाने कभी हमने इंतजाम किया है। ताकि उनमें सकारात्मक विचार आ सके। उन्होंने बताया कि किसी अपराध में लिप्त प्रेग्नेंट महिला के डिलीवरी होने के बाद 1 बच्ची द्वारा 3 साल तक किसी आदमी को नहीं देखने के बाद जेल सुप्रिडेंट मिलने गए तो वह बच्ची एकदम से चिल्लाकर भाग उठी। क्योंकि उस बच्ची ने कभी आदमी नहीं देखा था। इस हादसे ने मन को काफी दुख हुया और हमने इन महिलाओं को बाहर पैदल यात्रा बाजार में करवाने का फैसला किया। हमने मुलाकात के 8 मिनट को 10 मिनट का समय निश्चित किया है,।साथ ही सेशन जज को भी रेगुलर विजिट करने की अपील की है।

रंजीत चौटाला ने बताया कि हरियाणा गठन के बाद पहली बार उन्होंने प्रदेश के सभी जेलों के सुप्रिडेंट की मीटिंग ली। उसके बाद स्वयं मुख्यमंत्री ने होम सेक्रेट्री, अतिरिक्त मुख्य सचिव, होम पुलिस महानिदेशक जेल, पुलिस महानिदेशक इत्यादि से बैठक की। इस दौरान वह 6 घंटे तक लगभग वर्कशॉप में बैठे रहे। सभी की बातों को मुख्यमंत्री ने अलग-अलग सुना। हमने प्रदेश के सभी जिलों के सुप्रिडेंट को वर्दी में रहने के आदेश जारी किए। क्योंकि हार्ड क्रिमिनल्स के पास जेल सुपरिटेंडेंट एसपी की यूनिफॉर्म और कैप में होना चाहिए। सभी सुप्रिडेंट को 1-1 स्कॉर्पियो गाड़ी देने का आदेश स्वयं मुख्यमंत्री ने लिया. हमने कैदियों की सुविधाओं को बढ़ाने के लिए ऑनलाइन व्यवस्था पर जोर दिया। पहले सुप्रिडेंट अपने हिसाब से खरीदारी करते थे। अब हमने ऑनलाइन व्यवस्था सुचारू चलाते हुए सस्ती दरों पर बढ़िया खाने का इंतजाम किया। हम प्रदेश के 11 जिलों में 1 साल के अंदर अंदर पेट्रोल पंप भी लगा। इससे जेल की आमदनी में भी बढ़ोतरी होगी। साथ ही अच्छी क्वालिटी का सामान लोगों को मिलेगा। जेल मंत्री ने बताया कि कोविड दौरान हरियाणा की ही जिले मात्र ऐसी थी जो गरीब - प्रवासी मजदूरों के लिए भोजन की व्यवस्था कर रही है। हमारे देश में महाराष्ट्र और गुजरात की झीलें काफी अच्छी हैं हरियाणा अधिकारियों को हम लगातार डेलिगेशन के साथ भेजते हैं। इसके साथ साथ हम कैदियोंं को जैविक खेती भी सिखा रहे हैं ताकि घर लौटने पर वह अपने खेत में  जैविक वस्तुओं का उत्पादन करके अच्छा मुनाफा कमा सके।

 


सबसे ज्यादा पढ़े गए

Content Writer

Isha

Related News

Recommended News

static